Breaking News

प्रतिबंधित संगठन सिमी (SIMI) का सदस्य हनीफ शेख 22 साल बाद गिरफ्तार     |   बसपा को एक और झटका, कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं जौनपुर से सांसद श्याम यादव: सूत्र     |   छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के साथ सुरक्षाकर्मियों की मुठभेड़, 3 नक्सली ढेर     |   कोलकाता: आनंदपुर इलाके में एक बस्ती में लगी आग, करीब 50 झुग्गियां जलकर राख     |   पीएम मोदी ने मन की बात में देश के कई मुद्दों पर की चर्चा     |  

देव आनंद की आज 100वीं जयंती, सदाबहार स्टार की कई फिल्मों के लोकप्रिय गीतों पर एक नज़र

देव आनंद ने 100 से ज्यादा फिल्मों में लीड रोल निभाते हुए पांच दशक से ज्यादा समय बिताया, जिसमें एक प्रेमी नायक से लेकर एक स्नेही भाई तक व्यक्तित्व के कई रंग देखने को मिले।

उनकी 100वीं जयंती पर, यहां उनके कुछ लोकप्रिय गीतों पर एक नज़र: 
1. "है अपना दिल तो आवारा" - "सोलहवां साल" (1958) ये गीत देव आनंद पर फिल्माया गया है, जो ट्रेन की सवारी के दौरान वहीदा रहमान को लुभाने की कोशिश कर रहे हैं। सदाबहार रोमांटिक ट्रैक को हेमंत कुमार ने गाया और संगीत एस. डी. बर्मन ने दिया।

2. "खोया खोया चांद" - "काला बाजार" (1960) मोहम्मद रफी का टाइमलेस गीत देव आनंद के प्रशंसकों के बीच हमेशा याद किया जाता रहेगा। खूबसूरती से तैयार किए गए गीत को इसकी मधुर धुन के लिए याद किया जाता है जो तड़प और रोमांस को पेश करता है।

3. "मैं जिंदगी का साथ निभाता चला गया" - "हम दोनों" (1961) मोहम्मद रफी का एक और खास नगीना, गीत महान कवि साहिर लुधियानवी ने लिखा। ये गीत आशावाद की भावना पैदा करता है, जो बहुत अधिक चिंता किए बिना जिंदगी जीने के नजरिए को दर्शाता है।

4. मोहम्मद रफी और आशा भोसले के युगल गीत 'अभी ना जाओ छोड़ कर' (1961) में देव आनंद और साधना को बॉलीवुड शैली में पेड़ों के इर्द-गिर्द घूमते हुए देखा गया है।

5. 'तेरे घर के सामने' (1963) रोमांस ड्रामा के टाइटल सॉन्ग को मोहम्मद रफी और लता मंगेशकर ने गाया है। फिल्म का निर्देशन देव आनंद के अभिनेता-फिल्म निर्माता भाई विजय आनंद ने किया था। इस ट्रैक में देव आनंद को शराब पीकर नूतन के किरदार के लिए अपने प्यार के बारे में बताते हुए दिखाया गया है।

6. विजय आनंद के निर्देशन में बनी इस क्लासिक फिल्म के गाने को मोहम्मद रफी ने भी गाया था। उदास ट्रैक लालसा, दिल टूटने और जुदाई के दर्द की भावना को व्यक्त करता है।

7. 'ये दिल ना होता बेचारा' - 'ज्वेल थीफ' (1967) किशोर कुमार का ये गाना देव आनंद के मुख्य किरदार पर फिल्माया गया है। इसमें संगीत आर. डी. बर्मन ने दिया है और गीत मजरूह सुल्तानपुरी ने लिखे हैं। ये जीवन और प्यार के प्रति बेपरवाह नजरिए को दिखाता है।

8. "पल भर के लिए कोई हमें प्यार कर ले" - "जॉनी मेरा नाम" (1970) एक और क्लासिक फिल्म का रोमांटिक ट्रैक किशोर कुमार और उषा खन्ना ने गाया। इसमें देव आनंद हेमा मालिनी के साथ रोमांस करते नजर आ रहे हैं।

9. 'फूलन का तारों का' - 'हरे रामा हरे कृष्णा' (1971) ये गीत एक भाई और बहन के रिश्ते को दर्शाता है। ये देव आनंद के किरदार पर फिल्माया गया है जो फिल्म में बहन बनीं जीनत अमान के साथ रिश्ते बेहतर करने की कोशिश कर रहा है। गाने को किशोर कुमार ने गाया है।

10.  'दिल आज शायर है' - 'गैम्बलर' (1971) इस गाने में देव आनंद के किरदार को फिल्म की लीडिंग लेडी जाहिदा के लिए अपनी रोमांटिक भावनाओं का इजहार करते हुए दिखाया गया है। एस. डी. बर्मन के संगीत के साथ किशोर कुमार ने इस गीत को गाया है।