Breaking News

दिल्ली में बन रहे केदारनाथ मंदिर का उत्तराखंड में विरोध शुरू, चमोली में नारेबाजी     |   मुंबई एक्सप्रेस हाईवे पर ट्रैक्टर और बस में टक्कर, 4 लोगों की मौत     |   ग्रेटर नोएडा में पिकअप से टकराई गाड़ी, 3 की मौत नौ घायल     |   जम्मू के डोडा हाईवे पर सुरक्षाबलों ने बढ़ाई सुरक्षा     |   वर्ली हिट एंड रन मामला: मिहिर शाह को आज कोर्ट में पेश करेगी पुलिस     |  

मेरठ: कृषि विवि दीक्षांत समारोह में पहुंची राज्यपाल, एग्रीकल्चर के क्षेत्र में नाम रोशन कर रहीं बेटियों को सराहा

मेरठ के सरदार वल्लब भाई पटेल कृषि विवि के दीक्षांत समारोह में ज्यादातर गोल्ड मेडल पर पापा की लाडली का कब्ज़ा रहा.. राज्यपाल ने इन बेटियों की सराहना करते हुए सास बहु के रिश्ते का दिलचस्प किस्सा सुनाया. उन्होंने कहा कि कई हमारी बेटियां सास के साथ आईं जिसे देखकर बहुत अच्छा लगा. राज्यपाल ने कहा कि सास बहु का संबंध वर्षों तक रहता है. मां बेटी का संबंध तो पच्चीस साल तक रहता है. उन्होंने कहा कि मैनें एक सास से पूछा ठीक है आपकी बहु उन्होंने कहा बहुत अच्छा है. राज्यपाल ने कहा कि कई छात्र छात्राएं पिता की उंगली पकड़कर आए. जिस माता पिता ने बच्चे की उंगली पकड़कर आगे बढ़ाया उन्हीं माता पिता का जब समय आता है तो बेटों बेटियों को भी उनकी सेवा करना चाहिए. माता पिता की सेवा ज़िन्दगी भर करते रहेंगे.

मेरठ के सरदार वल्लभभाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के 16 वें दीक्षांत समारोह का आयोजन किया गया, इस समारोह की अध्यक्षता उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने की.  राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने 18 विद्यार्थियों को उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए पदक दिए. 18 पदको में से 12 पदक बेटियों और छह पदक बेटों ने अपने नाम कर कौशल का परिचय दिया. कुलाधिपति पदक सूरज धनखड़ तो कुलपति स्वर्ण पदक साक्षी यादव को दिया गया. कृषि महाविद्यालय के तीनो उत्कृष्टता पदक छात्राओं को दिये गये. जो कृषि शिक्षा में छात्राओं की बढ़ती रूची को दर्शाता है. विश्वविद्यालय के स्नातक स्तर पर ऐकेडमिक गतिविधयों में संयुक्त रूप से उत्कृष्ट प्रर्दशन के लिए पशु चिकित्सा एवं पशु विज्ञान महाविद्यालय के एक छात्र सूरज धनकड़, कुलाधिपति स्वर्ण पदक से सम्मानित किया गया...

विभिन्न विषयों में स्नातक के लिए 370, स्नातकोत्तर में 88 और पी-एच०डी० में 36 छात्र-छात्राओं को उपाधियाँ प्रदान की गई. शैक्षिक उत्कृष्ठता के लिए कृषि महाविद्यालय, जैव प्रौद्योगिकी महाविद्यालय, उद्यान महाविद्यालय, खाद्य प्रौद्योगिकी महाविद्यालय, कृषि अभियांत्रिकी महाविद्यालय और पशु चिकित्सा महाविद्यालय के 18 छात्र-छात्राओं को कुलपति स्वर्ण, रजत एवं कांस्य पदकों से सम्मानित किया गया.. 

दीक्षांत समारोह की अध्यक्षता करते हुए राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल ने कहा कि बेटियां इस बार भी पदक में आगे रहीं. उन्होंने छात्र-छात्राओं से कहा कि वो अपने जीवन में सही सोच के साथ सही रास्ते में चले क्यों कि गलत सोच आपको भटका सकती है. राज्यपाल ने कहा कि देश में अमृतकाल चल रहा जिसमें कृषि उत्पादकता को कैसे बढ़ाया जाये इस पर विचार करने की आवश्यकता है. उन्होंने गुजरात का उदाहरण देते हुए बताया कि एक ज़माने में वहां पर लोगों को पानी की समस्या से गुजरना पड़ता था..उन्होने लोगों से एक-एक बूंद पानी को बचाने का संदेश दिया गया. उन्होने कहा सभी को अच्छी सोच डवलप करनी है जिससे देश का समग्र विकास हो सके. राज्यपाल ने महिलाओं को सरबाईकल कैंसर होता है इसलिये समय पर वेक्सीन लगवा लेनी चाहिये. वैक्सीन के बारे में अधिक से अधिक जागरूकता लाने की बात उन्होंने कही. राज्यपाल ने मिलेट का उत्पादन बढ़ाने तथा उसके उत्पाद को अधिक से अधिक बनाकर लोगो तक पहुंचाने को कहा. आनंदी बेन पटेल ने कहा कि अच्छे शोध कार्यों एवं उपलब्धियों को घर घर तका पहुंचाना चाहिये.

राज्यपाल महोदया ने अपने सम्बोधन में कहा कि उन्हें प्रसन्नता है कि यह कृषि विश्वविद्यालय पश्चिमी उत्तर प्रदेश के क्षेत्रों में सकारात्मक ऊर्जा के साथ प्रगति कर रहा है. खाद्यान्न सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए विश्वविद्यालय स्तर पर इस प्रकार के शोध करने चाहिए जो कि समय व मांग के अनुसार हों. जिससे किसानों की आय में भी बढोत्तरी हो सके.