Breaking News

दमदम और कोलकाता लोकसभा क्षेत्र में आज दो पदयात्राएं करेंगी ममता बनर्जी     |   दिल्ली HC ने मनी लॉन्ड्रिंग केस में सत्येन्द्र जैन की डिफॉल्ट जमानत याचिका पर ED को भेजा नोटिस     |   अरविंद केजरीवाल को SC से झटका, अंतरिम जमानत 7 दिन बढ़ाने की याचिका पर तुरंत सुनवाई से इनकार     |   घाटकोपर होर्डिंग मामला: SIT ने मुंबई GRP रेलवे के ACP को भेजा समन, मंगलवार को पूछताछ के लिए बुलाया     |   कोलकाता में आज शाम रोड शो करेंगे पीएम मोदी     |  

एस्ट्राजेनेका ने कोविड-19 के टीकों की वापसी शुरू की, पुराने टीके की मांग सिमटने का हवाला दिया

Delhi: ब्रिटेन की फार्मास्युटिकल दिग्गज एस्ट्राजेनेका ने अपने COVID-19 वैक्सीन की ग्लोबल वापसी शुरू कर दी है। भारत में ये सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की साझेदारी में 'कोविशील्ड' नाम से तैयार की गई थी। कंपनी ने कहा है कि वापसी महामारी के बाद से आज तक टीकों की भरमार की वजह से शुरू की गई है। पुरानी तकनीक से बने टीकों की मांग अब नहीं है। 

टीकों की वापसी का फैसला एस्ट्राजेनेका के ये मान लेने के कुछ दिनों बाद आया है कि उसका टीका "बहुत ही कम मामलों" में खून के थक्के से जुड़ा गलत असर पैदा कर सकता है। इसे टीटीएस के तौर पर जाना जाता है। थ्रोम्बोसाइटोपेनिया सिंड्रोम (टीटीएस) के साथ थ्रोम्बोसिस ऐसी हालत है, जिसमें शरीर में खून के थक्के बन जाते हैं और प्लेटलेट्स की संख्या घट जाती है।

भारत में वैक्सीन बनाने वाली कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने अब तक वापसी पर कोई बयान नहीं दिया है। भारत में COVID-19 के टीकों की 220 करोड़ से ज्यादा खुराकें दी गई हैं और उनमें से ज्यादातर कोविशील्ड के टीके थे।