Breaking News

गुजरात: प्रियंका 27 अप्रैल को वलसाड तो 29 अप्रैल को राहुल पाटन में करेंगे जनसभा     |   सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हेमंत सोरेन, हाईकोर्ट में याचिका पर सुनवाई में देरी की शिकायत की     |   महाराष्ट्र: भाषण देते हुए मंच पर गिरे गडकरी, यवतमाल में चुनावी सभा की घटना     |   अखिलेश यादव कल दोपहर 12 बजे कन्नौज से नामांकन करेंगे     |   बीरभूम में ममता की रैली, बोलीं- BJP को खुश करने के लिए EC ने कराया इतना लंबा चुनाव     |  

WPL 2024 FINAL: 'ई साला कप नामदे नहीं' अब यह है 'ई साला कप नामदु' -स्मृति मंधाना

WPL 2024 FINAL: वीमेंस प्रीमियर लीग 2024 का विनर मिल गया है। बता दें कि रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने रविवार को दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में दिल्ली कैपिटल्स को हराकर खिताब अपने नाम किया। इसी के साथ, जीत के बाद आरसीबी की कप्तान स्मृति मंधाना ने कई बातें कहीं। उन्होंने कहा कि पिछले साल वीमेंस प्रीमियर लीग में हार के बाद टीम मैनेजमेंट ने उनका साथ दिया, जिससे उन्हें रविवार को खिताब जीतने में काफी मदद मिली। 

‘भावना नहीं हुई अभी तक खत्म’
बता दें कि बैंगलोर की कप्तान स्मृति मंधाना ने खिताब जीतने के बाद कहा कि, “भावना अभी तक खत्म नहीं हुई है। मेरे लिए भाव को उजागर करना मुश्किल है। लेकिन मैं ये कहूंगी कि मुझे इस ग्रुप पर गर्व है। हमारा पूरा टूर्नामेंट  अच्छा रहा। हम दिल्ली आये और दो बार टीम हारी। हमने इस बारे में बात की, पिछले साल ने हमें बहुत कुछ सिखाया है, क्या गलत हुआ, क्या सही हुआ। मैनेजमेंट ने बस  इतना कही कि यह आपकी टीम है। इस अपने तरीके से बनाएं। मैं ट्रॉफी जीतने वाली अकेली नहीं हूं। टीम ने ट्रॉफी जीती है। आगे उन्होंने फैंस को संदेश दिया और कहा कि सबसे लॉयल फैनबेस। एक बयान जो हमेशा सामने आता है वह है ई साला कप नामदे। अब यह ई साला कप नामदु है। कन्नड़ मेरी भाषा नही है लेकिन फैंस के लिए यह कहना जरूरी था।“ 

क्या कुछ घटा मैच में?
आपको बता दें कि मुकाबला दिल्ली और बैंगलोर के बीच रविवार को दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में खेला गया था। तो वहीं दिल्ली की कप्तान मैग लेनिंग ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। पहले बल्लेबाजी करने उतरी दिल्ली की टीम की शुरुआत शानदार रही, लेकिन बाद में  आरसीबी की गेंदबाजी के आगे दिल्ली महज 113 रनों पर सिमट गयी। लक्ष्य का पीछा करने उतरी आरसीबी ने आसानी से टारगेट को पूरा कर लिया और खिताब भी अपने नाम किया।