Breaking News

लोकसभा कल सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित     |   दिल्ली: TMC के सांसद आतिशी के समर्थन में अनशन स्थल पर पहुंचे     |   NEET पेपर लीक मामले में EOU ने CBI को केस से जुड़े दस्तावेज सौंपे     |   अरविंद केजरीवाल की जमानत पर कल फैसला सुनाएगी दिल्ली हाई कोर्ट     |   गुरुग्राम में एनएच 48 पर लंबा जाम, दिल्ली से जयपुर के रूट पर लगा है जाम     |  

टी20 विश्व कप में तबाही मचाएगा ये भारतीय गेंदबाज, वेर्नोन फिलैंडर ने कर दी भविष्यवाणी

T20 World Cup: सभी फॉर्मेट में जसप्रीत बुमराह के हालिया प्रदर्शन से प्रभावित दक्षिण अफ्रीका के पूर्व मध्यम तेज गेंदबाज वेर्नोन फिलैंडर ने कहा है कि वे इस साल होने वाले टी विश्व कप में भारत की सफलता की कुंजी रहने के साथ सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाज भी साबित होंगे। इंग्लैंड के खिलाफ विशाखापत्तनम में दूसरे टेस्ट में नौ विकेट लेकर भारत को 91 रन से जीत दिलाकर सीरीज में एक-एक से वापसी कराने वाले बुमराह आईसीसी टेस्ट गेंदबाजों की रैंकिंग में टॉप पर पहुंचने वाले पहले भारतीय तेज गेंदबाज बन गए हैं । इससे पहले कपिल देव दिसंबर 1979 से फरवरी 1980 के बीच दूसरे नंबर पर पहुंचे थे। ‘‘बुमराह इस समय मुकम्मिल गेंदबाज है। उनके पास जबर्दस्त कौशल है और उन्होंने सटीक गेंदबाजी का हुनर सीख लिया है जिससे टेस्ट क्रिकेट में इतनी सफलता मिल रही है। पहले वो हर समय विकेट लेने वाली गेंद फेंकना चाहते थे जिससे महंगे साबित होते थे लेकिन अब उनके प्रदर्शन में निरंतरता है।’’ 

उन्होंने कहा ,‘‘वे ऐसे गेंदबाज हैं जिन्हें टी20 क्रिकेट में भी कभी कमतर नहीं आंका जा सकता। वो नई गेंद से स्विंग कराते हैं और बल्लेबाज को आगे बढ़कर खेलने के लिये मजबूर करते हैं। उनके यॉर्कर काफी धारदार होते हैं और टी20 क्रिकेट में यही तो चाहिये। मुझे लगता है कि वह टी20 विश्व कप में सबसे कामयाब तेज गेंदबाज होंगे ।’’ टी20 विश्व कप जून में वेस्ट इंडीज और अमेरिका में खेला जायेगा। उन्होंने मोहम्मद शमी की भी तारीफ करते हुए कहा कि वो गेंद को बखूबी स्विंग कराते हैं। दक्षिण अफ्रीका के लिये 64 टेस्ट में 224 विकेट लेने वाले इस गेंदबाज ने कहा, ‘‘भारत के मौजूदा तेज गेंदबाजों से मैं काफी प्रभावित हूं। बुमराह के अलावा मोहम्मद शमी भी हैं जो सीम का बखूबी इस्तेमाल करते हैं । दक्षिण अफ्रीका में गेंदबाजी करना आसान नहीं होता लेकिन भारत की सपाट पिचों पर गेंदबाजी करने के बाद उन्होंने जिस तरह यहां गेंदबाजी की, वह काबिले तारीफ है।’’ 

फिलैंडर ने कहा कि विदेशी सरजमीं पर उम्दा प्रदर्शन करने वाले तेज गेंदबाजों का टीम में होना भारतीय क्रिकेट के लिये अच्छा संकेत है। उन्होंने कहा ,‘‘जब भी भारतीय टीम यहां आती है तो पिछली बार से बेहतर प्रदर्शन करती है। उपमहाद्वीप में स्पिनरों ने भारत को मैच जिताये हैं लेकिन अब उसके पास मैच जिताने वाले तेज गेंदबाज भी हैं। भारत को आस्ट्रेलिया में जीतते देखकर अच्छा लगा जिसका श्रेय विराट कोहली को भी जाता है जब उनकी कप्तानी में गेंदबाजों के प्रदर्शन में निखार देखने को मिला था।’’ वो 2019 में आस्ट्रेलिया में खेली गई श्रृंखला का जिक्र कर रहे थे जब विराट कोहली की कप्तानी में पहली बार भारत ने आस्ट्रेलिया को उसकी सरजमीं पर टेस्ट सीरीज में हराया था। 

भारत के खिलाफ पांच घरेलू टेस्ट (2013 और 2018) में 25 विकेट लेने वाले फिलैंडर ने कहा कि कोहली उनके लिये सबसे कठिन बल्लेबाज साबित हुए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘भारत जैसे मजबूत बल्लेबाजी क्रम का सामना करना अच्छा लगता रहा है। मानसिक मजबूती के पैमाने पर देखा जाये तो कोहली काफी खतरनाक है और गेंदबाजों के लिये कड़ी चुनौती पेश करते हैं।’’ टी20 विश्व कप से ठीक पहले आईपीएल होने से खिलाड़ियों के चोटिल होने या थकान के मसले पर उन्होंने कहा कि गेंदबाजों का सही प्रबंधन करना जरूरी है। 

उन्होंने कहा, ‘‘आईपीएल टी20 विश्व कप की तैयारी के लिये बेहतरीन प्लेटफॉर्म है लेकिन इसमें काफी मैच खेलने होंगे। यह सुनिश्चित करना होगा कि तेज गेंदबाजों का प्रबंधन बखूबी हो।’’ अपने कैरियर में आईपीएल नहीं खेल सके फिलैंडर अब कोच या सलाहकार के रूप में इस लीग से जुड़ना चाहते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘आईपीएल ऐसा टूर्नामेंट है जिससे आप कभी ना कभी जुड़ना जरूर चाहेंगे। शायद कोच और सलाहकार के तौर पर मेरे लिये दरवाजे खुलेंगे ताकि मैं युवा खिलाड़ियों के साथ अनुभव साझा कर सकूं।’’