Breaking News

प्रतिबंधित संगठन सिमी (SIMI) का सदस्य हनीफ शेख 22 साल बाद गिरफ्तार     |   बसपा को एक और झटका, कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं जौनपुर से सांसद श्याम यादव: सूत्र     |   छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के साथ सुरक्षाकर्मियों की मुठभेड़, 3 नक्सली ढेर     |   कोलकाता: आनंदपुर इलाके में एक बस्ती में लगी आग, करीब 50 झुग्गियां जलकर राख     |   पीएम मोदी ने मन की बात में देश के कई मुद्दों पर की चर्चा     |  

ज्ञानवापी व्यासजी तहखाने में पूजा रहेगी जारी, 15 फरवरी को होगी सुनवाई

Varanasi: इलाहाबाद हाई कोर्ट ने वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में मौजूद व्यास जी के तहखाना में हिंदुओं को पूजा की अनुमति वाले वाराणसी की अदालत के आदेश के खिलाफ अपील पर सुनवाई सोमवार को टाल दी और अगली तारीख 15 फरवरी तय की।

वाराणसी की अदालत के आदेश के खिलाफ अपील करने वाली अंजुमन इंतेजामिया मस्जिद कमेटी के वकील एस. एफ. ए. नकवी और पुनीत गुप्ता की दलीलें सुनने के बाद नकवी के अनुरोध पर जस्टिस रोहित रंजन अग्रवाल ने सुनवाई टालने का आदेश पारित किया।

अंजुमन इंतेजामिया की ओर से पेश एफ.एफ. ए. नकवी ने दलील दी कि विवादित संपत्ति पर वादी (व्यास परिवार) का क्या अधिकार है, इस पर निर्णय नहीं किया गया और इस प्रकार से वादी का अधिकार निर्धारित किए बगैर पूजा की अनुमति देने का आदेश अवैध है।

सोमवार को मुस्लिम पक्ष ने कोर्ट के आदेशों की प्रमाणित प्रतियां भी दाखिल कीं जो पूर्व में दाखिल नहीं की गई थीं और इन प्रतियों को रिकार्ड में दर्ज किया गया। विवादित संपत्ति पर हिंदू पक्ष का कब्जा दर्शाने वाले कुछ पत्र हिंदू पक्ष की ओर से दायर किए गए।

वाराणसी की कोर्ट  ने 31 जनवरी को दिए अपने आदेश में हिंदू श्रद्धालुओं को ज्ञानवापी परिसर में मौजूद व्यास जी के तहखाने में पूजा अर्चना करने की अनुमति दी थी।