Breaking News

लोकसभा कल सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित     |   दिल्ली: TMC के सांसद आतिशी के समर्थन में अनशन स्थल पर पहुंचे     |   NEET पेपर लीक मामले में EOU ने CBI को केस से जुड़े दस्तावेज सौंपे     |   अरविंद केजरीवाल की जमानत पर कल फैसला सुनाएगी दिल्ली हाई कोर्ट     |   गुरुग्राम में एनएच 48 पर लंबा जाम, दिल्ली से जयपुर के रूट पर लगा है जाम     |  

मसीहा बनकर थाइलैंड से आएंगे और मजदूरों को निकाल लेंगे

उत्तरकाशी जिले के सिल्क्यारा में रविवार को हुए टनल हादसे में 41 मजदूरों की जान फंसी हुई है. मजदूरों को बाहर निकालने के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं. पिछले 8 दिनों से रेस्क्यू चलाया जा रहा है. रेस्क्यू में कोई जरूरत पड़ी तो नॉर्वे और थाईलैंड के एक्सपर्ट्स की टीम को भी बुलाया जा सकता है. इसके लिए केंद्र सरकार की पूरी तैयारी है. दरअसल, थाइलैंड की एक सुरंग में अंडर-16 फुटबाल जूनियर टीम के 17 खिलाड़ी फंस गए थे. इनको थाइलैंड ओर नॉर्वे की रेस्क्यू टीम ने सन् 2018 में टनल से बाहर निकाला था.

दिवाली वाले दिन रविवार सुबह 6 बजे उत्तरकाशी के सिलक्यारा में टनल में मलबा आ गया. मलबा आने से टनल में काम कर रहे 41 मजदूर फंस जाते हैं. उन्हें निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन रविवार सुबह 8 बजे से शुरू हो जाता है. पूरा दिन मलबे को रेस्क्यू टीम द्वारा निकाला जाता है, लेकिन उस दिन सफलता नहीं मिल पाती. जो मलबा टनल से बाहर निकाला जा रहा था, वह वापस ऊपर से उतना ही आ रहा था.