Breaking News

प्रतिबंधित संगठन सिमी (SIMI) का सदस्य हनीफ शेख 22 साल बाद गिरफ्तार     |   बसपा को एक और झटका, कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं जौनपुर से सांसद श्याम यादव: सूत्र     |   छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के साथ सुरक्षाकर्मियों की मुठभेड़, 3 नक्सली ढेर     |   कोलकाता: आनंदपुर इलाके में एक बस्ती में लगी आग, करीब 50 झुग्गियां जलकर राख     |   पीएम मोदी ने मन की बात में देश के कई मुद्दों पर की चर्चा     |  

ग़ाज़ीपुर बॉर्डर पर सुरक्षा बढ़ाई गई, ट्रैफिक एडवाइजरी जारी

पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के किसानों ने ऐलान किया था कि वो अपनी मांगें पूरी कराने के लिए सोमवार को दिल्ली तक मार्च करेंगे। इसे देखते हुए दिल्ली की सभी सीमाओं पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर बैरिकेड्स लगा दिए गए हैं।

दिल्ली पुलिस ने किसानों के मार्च के ऐलान को देखते हुए रविवार को ट्रैफिक एडवाइजरी जारी की थी। इसमें राष्ट्रीय राजधानी के तीन बॉर्डर पर वाहनों की आवाजाही पर रोकने की जानकारी दी गई थी। उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब के कई किसान संगठन अपनी फसलों के लिए एमएसपी की गारंटी देने वाले कानून की मांग कर रहे हैं। इसे के लिए उन्होंने 13 फरवरी को दिल्ली कूच का ऐलान किया है।

साल 2021 में किसानों ने जिन शर्तों पर अपना आंदोलन वापस लिया था, उनमें से एक शर्त एमएसपी की गारंटी भी थी। ट्रैफिक एडवाइजरी के अनुसार, कमर्शियल वाहनों के लिए सोमवार से कुछ जगहों पर यातायात प्रतिबंध और कुछ जगह पर डायवर्जन लागू किया गया है।

ट्रैफिक एडवाइजरी में कहा गया है कि दिल्ली से गाज़ीपुर बार्डर के बीच गाजियाबाद जाने वाला ट्रैफिक, अक्षरधाम मंदिर के सामने पुश्ता रोड या पटपड़गंज मदर डेयरी रोड या चौधरी चरण सिंह मार्ग आईएसबीटी आनंद विहार की तरफ से जा सकता है और गाजियाबाद में महाराजपुर या अप्सरा सीमा से बाहर निकल सकता है।

न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की कानूनी गारंटी के अलावा किसान, स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने, किसानों और खेतिहर मजदूरों के लिए पेंशन, कृषि लोन माफी, 2021 के आंदोलन के दौरान दर्ज मुकदमों को वापस लेना और लखीमपुर खीरी हिंसा के पीड़ितों के लिए इंसाफ की भी मांग कर रहे हैं।