Wednesday, December 7, 2022

उत्तराखंड: जनता की जेब पर पड़ेगा और महंगाई का भार, फिर महंगी हुई बिजली



देहरादून। उत्तराखंड के लोगों की जेब पर एक और महंगाई का भार पड़ने वाला है। इस बार राज्य में बिजली की दरों में वृ्द्धि की गई है। राज्य में बिजली बिलों पर सरचार्ज लगाने की बात कही गई थी। ऊर्जा निगम के बिजली बिलों में सरचार्ज लगाने के प्रस्ताव को विद्युत नियामक आयोग ने मंजूरी दे दी है। आम जनता के साथ उद्योग, कामर्शियल समेत अन्य वर्गों के बिजली बिलों में एक सितंबर 2022 से 31 मार्च 2023 तक पांच पैसे से 86 पैसे प्रति यूनिट तक सरचार्ज के रूप में वसूला जाएगा।

ऊर्जा निगम ने महंगी बिजली खरीद के रूप में पड़े 1355 करोड़ के भार की भरपाई सरचार्ज के रूप में करने की मांग विद्युत नियामक आयोग से की थी। आयोग ने लंबी चली सुनवाई प्रक्रिया के बाद सिर्फ 379 करोड़ ही सरचार्ज के रूप में वसूलने की मंजूरी दी। शेष 976 करोड़ की भरपाई अगले साल के खर्चे से होगी। सरचार्ज के रूप में ये वसूली आम जनता से एक सितंबर 2022 से 31 मार्च 2023 के बीच बिजली बिलों से होगी। सिर्फ बीपीएल और स्नोबाउंड क्षेत्र वाले बिजली उपभोक्ताओं को ही सरचार्ज से राहत दी गई है। अन्य सभी श्रेणियों में सरचार्ज के रूप में भार बढ़ाया गया है।

सरचार्ज में इस प्रकार की गई है वृद्धि

घरेलू उपभोक्ता

100 यूनिट तक, पांच पैसे प्रति किलोवाट आवर

101-200 यूनिट, 20 पैसे प्रति किलोवाट आवर

201-400 यूनिट, 30 पैसे प्रति किलोवाट आवर

400 यूनिट से अधिक, 45 पैसे प्रति किलोवाट आवर

अघरेलू उपभोक्ता

25 किलोवाट तक, 62 पैसे प्रति किलोवाट आवर

सरकारी संस्थान, 79 पैसे प्रति किलोवाट आवर

एलटी इंडस्ट्री, 62 पैसे प्रति किलोवाट आवर

एचटी इंडस्ट्री, 62 पैसे प्रति किलोवाट आवर

मिश्रित लोड, 73 पैसे प्रति किलोवाट आवर

 

you may also like