Tuesday, September 27, 2022

कांग्रेस का महंगाई के खिलाफ प्रदर्शन, राहुल गांधी पुलिस हिरासत में 



दिल्ली में पार्टी कार्यालय के बाहर महंगाई और बेरोजगारी को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का  विरोध प्रदर्शन संसद तक पहुंच चुका है. बता दें कि बेरोजगारी और महंगाई को लेकर कांग्रेस ने आज देशव्यापी विरोध का आह्वान किया है. बता दें कि दिल्ली पुलिस ने नयी दिल्ली जिले में निषेधाज्ञा लागू होने का हवाला देते हुए शुक्रवार को राष्ट्रीय राजधानी में कांग्रेस को प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी है और जंतर मंतर को छोड़कर नई दिल्ली पूरे इलाके में सीआरपीसी की धारा 144 लागू की है. जिसके बाद कानून का पालन न करने और विरोध प्रदर्शन जारी रखने के चलते उन्हें हिरासत में ले लिया गया है.

क्या है पूरा मामला-
आपको बता दें कि दिल्ली में पार्टी कार्यालय के बाहर से कार्यकर्ताओं ने महंगाई और बेरोजगारी को लेकर प्रदर्शन शुरू किया. वहीं महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन को लेकर राहुल गांधी कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे और  प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बीजेपी पर कड़े बोल बोले. इस दौरान राहुल गांधी केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा, हम महंगाई, बेरोज़गारी और समाज को जो बांटा जा रहा है उसका मुद्दा संसद में उठाना चाहते हैं लेकिन हमें बोलने नहीं दिया जाता. उन्होंने कहा, आज लोकतंत्र की हत्या हो रही है. इस देश ने 70 साल में बनाया उसको 8 साल में खत्म कर दिया गया. आज हिंदुस्तान में लोकतंत्र नहीं है बल्कि 4 लोगों की तानाशाही है.

अशोक गहलोत का बीजेपी पर वार
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, किसी ने कभी कल्पना नहीं की थी कि देश में ऐसा वक्त भी आएगा कि तिरंगों के लिए लोगों को समाप्त होते देखा जाएगा. कोई कल्पना नहीं कर सकता जिस रूप में संविधान की धज्जियां उड़ रही हैं. महंगाई, बेरोज़गारी, GST पर कोई सुनवाई करने वाला नहीं है.

सारी संस्थान RSS के हांथ
राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, विपक्ष कानूनी ढांचा, न्यायिक संरचना, चुनावी संरचना के बल पर लड़ती है. यह सब ढांचे सरकार का समर्थन कर रहे हैं क्योंकि सरकार ने अपने लोग इन संस्थानों में बैठा रखे हैं. हिंदुस्तान का कोई भी संस्थान स्वतंत्र नहीं है, वह RSS के नियंत्रण में है. उन्होंने कहा, हिटलर भी चुनाव जीतकर आया था. हिटलर कैसे चुनाव जीतता था? उसके पास सारी संस्थान उसके हाथ में थी. उसके पास पूरा ढ़ांचा था. मुझे पूरा ढांचा दे दो फिर मैं दिखाऊंगा चुनाव कैसे जीता जाता है.

केंद्रीय जांच एजेंसियों पर भी उठाया सवाल
कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं ने महंगाई, बेरोजगारी खिलाफ पार्टी मुख्यालय से अपना विरोध-प्रदर्शन शुरू किया. पार्टी कांग्रेस नेताओं को निशाना बनाने के लिए सरकार द्वारा केंद्रीय जांच एजेंसियों के कथित गलत इस्तेमाल के खिलाफ भी प्रदर्शन कर रही है. प्रदर्शन कर रहे पार्टी के नेताओं, सांसदों के हाथ पर काली पट्टी बंधी नजर आई. 

भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस पर लगाया आरोप 
राहुल गांधी के प्रेस कॉन्फ्रेंस पर भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस पर आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने साफ झूठ बोला है. अभी 2 दिन पहले सदन में चर्चा हुई उसमें कांग्रेस पार्टी के लोगों ने भाग लिया कि नहीं? निम्न स्तर के आरोप लगाए कि नहीं? राहुल गांधी ने ये झूठ क्यों बोला कि उनको बोलने नहीं दिया जाता है? ये देश को बताना जरूरी है. उन्होंने कहा कि महंगाई और बेरोजगारी पर चर्चा एक बहाना है. सही कारण ED को धमकाना, डराना और परिवार को बचाना है, ये असली कारण है.

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्षा और सांसद सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने संसद में महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ पार्टी सांसदों के विरोध का नेतृत्व किया और संसद में काले कपड़े पहनकर पहुंचे.  वहीं, कई कांग्रेस सांसदों ने भी काले कपड़े पहनकर विरोध जताया है. इसके साथ ही कांग्रेस सांसदों ने महंगाई और बेरोजगारी पर अपना विरोध दर्ज कराने के लिए संसद से राष्ट्रपति भवन तक मार्च निकाला. जिसके बाद राहुल गांधी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया.


 

you may also like