Tuesday, September 27, 2022

तिरंगा बाइक रैली से दूर रहा विपक्ष, BJP ने उठाया सवाल



'हर घर तिरंगा' अभियान और तिरंगा बाइक रैली को लेकर भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस आमने-सामने आ गए हैं. एक तरफ जहां भाजपा जहां कांग्रेस की देशभक्ति पर सवाल उठा रही है तो वहीं कांग्रेस तिरंगे को लेकर उसे घेर रही है. जानें क्या है पूरा मामला -

20 करोड़ से ज्यादा घरों पर तिरंगा फहराने की तैयारी
दरअसल आजादी के 75 साल के मौके को ऐतिहासिक एवं यादगार बनाने के लिए सरकार ने 'हर घर तिरंगा अभियान' की शुरुआत की है. सरकार का लक्ष्य 13 से 15 अगस्त के बीच 20 करोड़ से ज्यादा घरों पर तिरंगा फहराने की है. इसके लिए संस्कृति मंत्रालय और अन्य विभाग जोर-शोर से तैयारी में जुटे हुए हैं. सरकार ने तिरंगे की उपलब्धता के लिए झंडा बनाने वाली संस्थाओं एवं कंपनियों को विशेष निर्देश दिए हैं. सरकार का मानना है कि इस अभियान के जरिए लोग अपने राष्ट्रीय ध्वज के बारे में ज्यादा से ज्यादा जान सकेंगे और उनमें राष्ट्रभक्ति एवं एकता की भावना मजबूत होगी.

उप राष्ट्रपति ने रैली को रवाना किया
इस अभियान के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए संस्कृति मंत्रालय की ओर से तिंरगा बाइक रैली का आयोजन किया गया. मंत्रालय ने सभी सांसदों को इस रैली में शामिल होने की अपील की थी लेकिन रैली में विपक्ष का कोई सांसद नहीं पहुंचे. आपको बता दें कि उप राष्ट्रपति वेंकैया नायूड ने लाल किले से इस बाइक रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया.

विपक्ष कहीं चीन का झंडा न थाम ले-गिरिराज सिंह
रैली में भाजपा के कई सांसद एवं केंद्रीय मंत्री शामिल हुए। रैली में शामिल होने के लिए पहुंचे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि आजादी के लिए हमारे पूर्वजों ने बलिदान दिया। आज हम आजादी के 75 साल पूरे होने पर अमृत महोत्सव मना रहे हैं। लेकिन दुर्भाग्यवश कुछ लोग तिरंगे पर भी सवाल उठा रहे हैं। मोदी जी जो काम करेंगे विपक्ष उसके उलट काम करेगा। उन्हें तो लगता है कि विपक्ष तिरंगे की जगह कहीं चीन का झंडा न थाम ले। 

सरकार और विपक्ष के बीच तकरार
संस्कृति मंत्रालय की तरफ से बुधवार को तिरंगा बाइक रैली का आयोजन हुआ. यह रैली लाल किले से विजय चौक तक निकाली गई जिसमें भाजपा सांसद एवं केंद्रीय मंत्री शामिल हुए. विपक्ष के सांसदों ने इस रैली से दूरी बनाई. जिस पर भाजपा ने विपक्ष पर तीखा हमला बोला. तो वहीं  कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने भाजपा एवं सरकार पर पलटवार किया. रमेश ने तिरंगे के साथ पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की तस्वीर शेयर की और तस्वीर के साथ उन्होंने ट्वीट किया, 'हम हाथ में तिरंगा लिए अपने नेता नेहरू की डीपी लगा रहे हैं, वह भी खादी में'.

RSS पर भी किया हमला
भाजपा को जवाब देते हुए जयराम रमेश ने कहा, 'हम हाथ में तिरंगा लिए अपने नेता नेहरू की DP लगा रहे हैं. लेकिन लगता है प्रधानमंत्री का संदेश उनके परिवार तक ही नहीं पहुंचा. जिन्होंने 52 सालों तक नागपुर में अपने हेड क्वार्टर में झंडा नहीं फहराया, वे क्या प्रधानमंत्री की बात मानेंगे?' कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने अपने कार्यालय पर राष्ट्रीय ध्वज न फहराने को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर तंज कसते हुए कहा, 'संघ वालों, अब तो तिरंगे को अपना लो.'

you may also like