Tuesday, September 27, 2022

आज से CUET की परीक्षाएं शुरू, जाने क्या हैं तैयारियां ?



CUET यूजी एग्जाम आज से शुरू हो रहे है.  14 लाख बच्चे इस परिक्षा का काफी समय से इंतजार  कर रहे थे साथ ही कई महीनों से इसकी तैयारियां भी कर रहे थे. वहीं बच्चे इस परिक्षा को लेकर डरे भी हुए हैं क्यूंकि  इस तरह के एग्जाम की ये पहले बैच होने वाले हैं.

ऐसे में आइए एग्जाम पैटर्न को समझा जाए-

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) देशभर की सेंट्रल यूनिवर्सिटीज में अंडरग्रेजुएट प्रोग्राम्स में एडमिशन के लिए ‘सेंट्रल यूनिवर्सिटीज एंट्रेंस टेस्ट’ (CUET) का आयोजन करेगी. CUET 2022 यूजी एग्जाम 15 जुलाई से 10 अगस्त के बीच कराए जाएंगे. एंट्रेंस एग्जाम का आयोजन देशभर के 554 शहरों में करवाया जाएगा. देश में ये पहला मौका है, जब सरकार ने अलग-अलग यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए कॉमन एंट्रेंस टेस्ट को पेश किया है. हालांकि, CUET का पहले CUCET के नाम से आयोजन किया जाता था. लेकिन इस एग्जाम का आयोजन सिर्फ सेंट्रल यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए होता था.
हालांकि, अब कई और यूनिवर्सिटीज CUET एग्जाम में हिस्सा लेंगी और इसके नंबरों को ही एडमिशन का आधार बनाने वाली है. वहीं एग्जाम से पहले CUET के एग्जाम पैटर्न को समझना बेहद जरूरी है. इससे न सिर्फ एग्जाम अच्छे से देने में मदद मिलेगी, बल्कि अच्छा स्कोर करने के चांसेज भी बढ़ जाएंगे. CUET 2022 एग्जाम कंप्यूटर बेस्ड मोड में करवाए जाएंगे. एग्जाम पैटर्न में तीन सेक्शन होंगे.

कैसे होगा CUET एग्जाम पैटर्न?
CUET यूजी एग्जाम में MCQ पूछे जाएंगे. CUET एग्जाम के तीन सेक्शन्स में सेक्शन 1 (1ए और 1बी) लेंग्वेज टेस्ट, सेक्शन 2 में कोर टॉपिक नॉलेज और सेक्शन 3 में जनरल नॉलेज शामिल होंगे.

सेक्शन 1: इस सेक्शन को दो हिस्सों 1ए और 1बी में बांटा गया है. 1ए के तहत उम्मीदवार की इंग्लिश या 12 भारतीय भाषाओं (हिंदी, मराठी, गुजराती, तमिल, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम, उर्दू, असमिया, बंगाली, पंजाबी, या उड़िया) में से एक पर पकड़ का टेस्ट लिया जाएगा. इस सेक्शन को पूरा करने के लिए उम्मीदवार को 45 मिनट का टाइम दिया जाएगा. 1बी उन स्टूडेंट्स के लिए है, जो चीनी, जापानी, रूसी, तिब्बती, फ्रेंच, स्पेनिश, जर्मन, इतालवी, अरबी, बोडो, डोगरी, मैथिली, मणिपुरी, संथाली, कश्मीरी और अन्य जैसी देशी-विदेशीभाषाओं में अंडरग्रेजुएट डिग्री प्रोग्राम का चुन रहे हैं.

सेक्शन 2: इस सेक्शन के तहत उम्मीदवार की उस विषय के ज्ञान को चेक किया जाएगा, जिसे उन्होंने अंडरग्रेजुएट लेवल के लिए चुना है. उम्मीदवारों के पास 27 विषयों में से छह को चुनने का ऑप्शन दिया गया है. इसमें अकाउंटेंसी / बुक कीपिंग, बायोलॉजी/बायोलॉजिकल स्टडीज/बायोटेक्नोलॉजी/बायोकेमिस्ट्री, बिजनेस स्टडीज, केमिस्ट्री, कंप्यूटर साइंस/इंफॉर्मेटिक्स प्रैक्टिस, इकोनॉमिक्स/बिजनेस इकोनॉमिक्स, इंजीनियरिंग ग्राफिक्स, आंत्रप्रेन्योरशिप, जियोग्राफी/जियोलॉजी, हिस्ट्री, होम साइंस, नॉलेज ट्रेडिशन एंड प्रैक्टिस ऑफ इंडिया, लीगल स्टडीज, एनवायरेंटल साइंस, मैथ्स, फिजिकल एजुकेशन/NCC/योगा, फिजिक्स जैसे अन्य विषय शामिल हैं. स्टूडेंट्स का 45 मिनट के भीतर 50 सवालों में से 40 सवाल करना जरूरी होगा.

सेक्शन 3: एंट्रेंस एग्जाम का तीसरा पार्ट जनरल टेस्ट होगा. इसमें जनरल नॉलेज, करंट अफेयर्स, जनरल मेंटल एबिलिटी, न्यूमिरिकल एबिलिटी, क्वांटिटेटिव रिजनिंग, लॉजिकल और एनालिटिकल रिजनिंग से जुड़े सवाल होंगे. उम्मीदवार को जनरल टेस्ट तभी देना होगा, जब उसके द्वारा चुने गए प्रोग्राम और यूनिवर्सिटी द्वारा इसकी मांग की जा रही होगी. उम्मीदवारों के पास इस सेक्शन को पूरा करने के लिए एक घंटे का वक्त होगा. ये सेक्शन एक घंटे तक चलेगा और इस दौरान क्वांटिटेटिव रिजनिंग का भी मूल्यांकन किया जाएगा. इस सेक्शन में 75 सवाल होंगे, जिसमें से 60 करना जरूरी है.

you may also like