Monday, May 16, 2022

और जब धारा 144 के बीच सड़क पर उतरी भीम आर्मी



रविवार को भीम आर्मी के कार्यकर्ता ज्वालापुर के पुल जटवाड़ा पर इकट्ठा हुए। कार्यकर्ता सुबह 10 बजे से जटवाड़ा पुल पर जमा होने लगे। इस दौरान अनुसूचित जाति और मुस्लिम समुदाय के हजारों लोग शामिल हुए। उनकी तैयारी थी कि मध्य हरिद्वार के रानीपुर मोड़ पहुंचकर सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन दिया जाएगा, लेकिन पुलिस ने उन्हें कार्यक्रम स्थल के आसपास रोकने की पूरी तैयारी की थी।  जगह-जगह बैरिकेडिंग लगाते हुए भीड़ को नियंत्रित किया गया।

कार्यकर्ताओं ने प्रशासन के आग्रह को मानते हुए रानीपुर मोड़ तक जाने के बजाय ज्वालापुर कोतवाली तक प्रदर्शन करने का निर्णय लिया। भीम आर्मी के प्रदेश अध्यक्ष महक सिंह में नागरिकता संशोधन विधेयक को देश की मूल भावना के विपरीत बताया। 

आईजी रेंज अजय रौतेला के नेतृत्व में पुलिस बल ने मोर्चा संभालते हुए भीड़ को नियंत्रित किया। जुलूस की शक्ल में भीड़ मध्य हरिद्वार की ओर रवाना होने पर पुलिस ने कुछ दूरी पर ही उन्हें रोक दिया। जिसके बाद सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन देकर कार्यक्रम का समापन कर दिया गया। 

इस दौरान चप्पे-चप्पे पर पुलिस खड़ी रही। एसएसपी सेंथिल अबूदई कृष्णराज एस खुद सड़कों पर उतरकर स्थिति का जायजा लेते रहे।

you may also like